कभी पांडवों ने पाई थी जीत, अब राम मंदिर के लिए हुआ मां बगलामुखी मंदिर में 'शत्रु विजय यज्ञ'

मां बगलामुखी को महारुद्र (मृत्युंजय शिव) की मूल शक्ति के रुप में पूजा जाता है. तीन मुखों वाली मां के मस्तक पर तीसरा नेत्र व मणि है.

कभी पांडवों ने पाई थी जीत, अब राम मंदिर के लिए हुआ मां बगलामुखी मंदिर में 'शत्रु विजय यज्ञ'
मां बगलामुखी को महारुद्र (मृत्युंजय शिव) की मूल शक्ति के रुप में पूजा जाता है. तीन मुखों वाली मां के मस्तक पर तीसरा नेत्र व मणि है.